सुरक्षा और सुरक्षा संगठन सामान्य नियम, आवश्यकता और जिम्मेदारी

Updated: Dec 15, 2020

प्रबंधन और कर्मचारियों की जिम्मेदारी, परिसर (Installation) की सुरक्षा और Personnel सुरक्षा उपाय, सुरक्षा संगठन और कर्मियों की सुरक्षा (CSO) और कर्तव्य, सुरक्षा प्रमुख (Head Security) और कर्तव्य, सुरक्षा कर्मचारी (Security Guard) और कर्तव्य


परिचय


यह सुरक्षा मैनुअल (manual) सुरक्षा architecture प्रदान करता है जिसे निजी क्षेत्र (private sector) में कंपनियों द्वारा रखा जाना चाहिए।

प्रबंधन और कर्मचारियों की जिम्मेदारी

  1. यह कंपनी के प्रत्येक कर्मचारी की जिम्मेदारी है कि वह सभी वर्गीकृत सूचनाओं (information)और सामग्रियों की सुरक्षा करे । कर्मचारी की जिम्मेदारी है की ड्यूटी के दौरान company में उपयोग किये जाने वाली सामग्री और सूचनाओं का पूर्णरूप से रख रखाव करे।

  2. कंपनी की प्रत्येक कर्मचारी की जिम्मेदारी है की कार्य के दौरान वह पूर्ण रूप से जागरूक रहे और सुरक्षा सम्बन्धी किसी भी प्रकार की अनियमितता, कंपनी की किसी अन्य सामग्री या सुरक्षा सामग्री की दुरूपयोगिता चाहे जान बुझ कर की गई हो या गलती से हो गई हो, हर सुचना तुरंत अपने सीनियर अफसर और कंपनी चीफ सिक्योरिटी अफसर (Chief Security Officer) को दे।

  3. पूर्ण रूप से जागरूक रहना सुरक्षा टीम के सभी कर्मचारियों की जिम्मेदारी है। उन्हें लगातार जहाँ सुरक्षा सामग्री रखी गई है, निरीक्षण कार्यालय और अन्य स्थानों पर जहां उसके अधीनस्थ कर्मचारी काम करते हैं, का दौरा करते रहना चाहिए। कंपनी में सभी निर्देशित सुरक्षा नियमो का व सुरक्षा सामग्री का रख रखाव नियमित और अच्छी तरह से हो रहा है व अन्य नियमों का पालन हो रहा है इस बात का ध्यान रखते रहना चाहिए। सुरक्षा कर्मियों का यह भी कर्तव्य होगा कि वह अपने वरिष्ठ अधिकारी या अपने विभाग में सुरक्षा के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को कंपनी की हर गतिविधि की सुचना दें। उसके अधीन या उस विभाग में काम करने वाले कर्मचारियों के किसी भी सदस्य द्वारा सुरक्षा नियमों में किसी भी प्रकार का उल्लंघन पाया गया हो या किसी भी प्रकार का अनुचित कार्य देखा गया हो, स्टाफ सदस्य की अखंडता / विश्वसनीयता के बारे में संदेह हो, इन सब गतिविधियों की सुचना दें।

  4. जब भी कोई नया कर्मचारी कंपनी में ज्वाइन करता है या विभाग में नया कर्मचारी शामिल होता है तो विभागीय अधिकारी ने यह सुनिश्चित करना चाहिए की नए कर्मचारी ने मैन्युअल को अच्छी तरह से पढ़ लिया है और समझ लिया है। उन्होंने कर्मचारी से इस बात की लिखीत पुष्टि ले लेनी चाहिए।

  5. कंपनी के मुख्य सुरक्षा अधिकारी (CSO) की नियुक्ति, जो कंपनी में सुरक्षा को लागू करने के लिए जिम्मेदार होगा।

  6. प्रबंधन के सभी स्तरों सहित कार्यरत विभिन्न कार्मिकों की जॉइनिंग और समय-समय पर सुरक्षा जांच से पहले सभी व्यक्तियों के चरित्र और पूर्व पद और कार्य की जानकारी (antecedent) का पूर्ण सत्यापन जरुरी है।

  7. नए कर्मचारी को इंडक्शन (on boarding) प्रोग्राम में सुरक्षा नियमों की जानकारी देना व मैन्युअल में लिखित नियमों (do’s/don’ts) के बारे में पढ़कर उसकी पुष्टि लेना चाहिए। उनको कंपनी की गोपनीयता नीति (privacy policy) का भी ज्ञान होना चाहीए।

  8. वास्तविक, संभावना या संभावित कानूनों, आतंकवाद या तोड़फोड़ की गतिविधियों के बारे में औद्योगिक सुरक्षा शाखा में निकटतम पुलिस स्टेशन और संबंधित डेस्क को रिपोर्ट करना।

  9. किसी भी कर्मचारी / कर्मचारीयों के बारे में किसी भी प्रतिकूल सूचना मिलने पर औद्योगिक सुरक्षा शाखा में निकटतम पुलिस स्टेशन और संबंधित डेस्क को सूचना देना।

  10. निम्नलिखित रिपोर्ट प्रस्तुत करना: -

  • किसी भी प्रकार की अवांछनीय वस्तुओं, दुर्घटनाओं, घटनाओं में होने वाली किसी भी तरह की हानि / वसूली आदि की जानकारी रिपोर्ट में दर्शना चाहिए।

  • किसी भी विदेशी राष्ट्रीय यात्रा सम्बन्धी जानकारी प्रस्तुत करना ।

  • व्यापार के लिए आने वाले विदेशी व्यापार आगंतुकों, आग, दुर्घटनाओं, घटनाओं, बाहरी सुरक्षा ऑडिट (External Security Audit) और आंतरिक सुरक्षा ऑडिट (External Security Audit) के लिए अन्य एजेंसियों की यात्राओं पर कार्रवाई रिपोर्ट पर रिपोर्ट (feedback action report)।

परिसर (Installation) की सुरक्षा और Personnel सुरक्षा उपाय

संस्थान परिसर निगरानी, परिधि (Perimeter) दीवार, उचित परिसर नियंत्रण, चौबीसों घंटे निगरानी बनाए रखने, सीसीटीवी और अनधिकृत (unauthorized) प्रवेश करने वालो के लिए 'घुसपैठिया अलार्म (Intruder Alarm) प्रणाली' के माध्यम से निगरानी रखना।

  1. डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टरों, हाथ से पकड़े गए मेटल डिटेक्टरों और हाथ से बनाए गए आई-कार्ड चेकिंग सुविधा के साथ एंट्री और एग्जिट गेट को लैस करना और प्लांट या सुविधा से बाहर जाने वाले कर्मचारियोंकी तलाशी (frisking) और बैगेज स्क्रीनिंग के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात करना।

  2. यदि आवश्यक हो तो गार्ड और डॉग स्क्वॉड द्वारा रात में गश्त सहित महत्वपूर्ण पॉइंट के अंदर और आसपास गश्त करना।

  3. वाहनों की जांच के तहत गाड़ी ट्रॉली दर्पण (mirror) प्रदान करना।

  4. प्लांट / सुविधा के भीतर सभी आगंतुकों की गतिविधियों की निगरानी के लिए निगरानी और रिकॉर्डिंग के साथ एक नियंत्रण केंद्र (control room) स्थापित करना। कंट्रोल रूम को चौबीसों घंटे स्टैंडबाय व्यवस्था के साथ मेनटेन किया जाना चाहिए।

  5. यह सुनिश्चित करें कि सशस्त्र गार्ड की निगरानी में विस्फोटक सामग्री (explosives) / तैयार उत्पादों के परिवहन वाहनों को सुरक्षित ले जाया जाए।

सुरक्षा संगठन और कर्मियों की सुरक्षा:मुख्य सुरक्षा अधिकारी (CSO)

प्रावधान को लागु करने के लिए CSO होना चाहिए जो यह सुनिश्चित करेगा कि इस नियमावली के प्रावधानों के लिए आवश्यक सुरक्षा उपाय और इस आशय की वास्तविक भावना से नियमावली को लागू किया जा रहा है। CSO आंतरिक सुरक्षा नीतियों, आंतरिक लेखा परीक्षा, प्रशिक्षण, समीक्षा और सुरक्षा प्रक्रियाओंके अप-डेटेशन, सुरक्षा उपकरणों के उन्नयन, अन्य विभागों / संगठनों, नागरिक और कानून प्रवर्तन अधिकारियों और खुफिया एजेंसियों के साथ संपर्क के लिए जिम्मेदार होगा। केंद्र और राज्य आदि, CSO की आवश्यकता और कंपनी के आकार के आधार पर अतिरिक्त कर्मचारियोंद्वारा सहायता की जा सकती है और इसे सीधे कंपनी के सीईओ या कार्यकारी प्रमुख को रिपोर्ट करना चाहिए।


CSO की जिम्मेदारियां और कर्तव्य


निर्धारित सुरक्षा प्रावधानों को लागू करना।

  1. संवेदनशील / वर्गीकृत क्षेत्र / क्षेत्र / विनिर्माण सुविधा के रूप में उन क्षेत्रों को स्पष्ट रूप से सीमांकित करना जहां परियोजना (project) से संबंधित कार्य चल रहा है और यह सुनिश्चित करना है कि ऐसे क्षेत्रों को दर्शाने वाले आवश्यक बोर्ड (signage) प्रदर्शित किए जाते हैं।

  2. सभी सुरक्षा निर्देशों के साथ खुद को पूरी तरह से संपर्क में रखें और सुनिश्चित करें कि सुरक्षा निर्देशों को सभी कर्मचारियों द्वारा पूरी तरह से समझा जाता है और उनके संबंधित अनुभागों और कार्यालयों के भीतर लागू या संकलित किया जाता है।

  3. सुरक्षा विभाग में सभी कर्मियों के उचित आचरण, अनुशासन और प्रदर्शन के लिए जिम्मेदार होना।

  4. यह सुनिश्चित करना कि फायर सर्विस सेक्शन पूरी तरह से सुसज्जित है और कर्मियों को अच्छी तरह से प्रशिक्षित किया गया है।

  5. अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के कर्तव्यों के लिए जिम्मेदार होना और प्रबंधन द्वारा जारी किए गए वैध और उचित आदेशों को पूरा करना।

  6. समय-समय पर अचानक (surprise) निरीक्षण करना और ऐसे चेक का रिकॉर्ड बनाए रखना।

  7. जब भी कोई चूक हो उप-इकाइयों / कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी / विभागाध्यक्ष को रिपोर्ट प्रस्तुत करना।

  8. कर्मचारियों को सुरक्षा के मामलों से अवगत कराने के लिए नियमित कार्यक्रमों की व्यवस्था करना।

  9. कानून लागू करने वाली एजेंसियों और नोडल कार्यालयों के साथ निरंतर संपर्क (liaison) बनाए रखना।

  10. सुरक्षा नियमावली के तहत, उसके प्रभार के तहत परिसर के लिए सुरक्षा प्रणाली में सुधार को आगे बढ़ाने के लिए, आंतरिक और बाहरी सुरक्षा ऑडिट की व्यवस्था करना।

  11. जब सुरक्षा का उल्लंघन होता है, तो मुख्य उद्देश्य होंगे: -

  • तत्काल यह पता लगाना की कार्य प्रणाली के तौर तरीकों का क्या हुआ और क्या उल्लंघन किया गया है।

  • नुकसान को कम करना।

  • संचार के सबसे तेज माध्यम द्वारा अपराधी की जांच / पता लगाना और कंपनी के सीईओ / प्रमुख को रिपोर्ट करना।

  • पुनरावृत्ति को रोकने के लिए और उपचारात्मक उपायों का सुझाव देना।

  • यदि वर्गीकृत (classified) जानकारी या गलत स्थान पर सामग्री से समझौता / खोया / पाया गया है, तो इसे संबंधित कर्मचारी द्वारा तुरंत CSO को लिखित रूप से सूचित किया जाना चाहिए जो आवश्यक कार्रवाई करेगा।

  • जब - जब सुरक्षा कर्मचारियोंद्वारा सुरक्षा उल्लंघनों के मामलों का पता लगाया जाता है, तो उसी घटना के बारे में CSO को सूचित किया जाना चाहिए। विभाग के प्रमुख मामले की पूरी जांच करेंगे और रिपोर्ट पेश करेंगे।

  • जांच के लिए एक स्थायी समय सीमा है, जिसके द्वारा इसे पूरा किया जाएगा, इसके अलावा, प्रगति की रिपोर्ट (progress report) CSO के कार्यालय को सौंपी जाएगी, जब तक कि मामला अंतिम रूप नहीं लेता।

व्यक्तिगत (Personnel) सुरक्षा

प्रत्येक CSO यह सुनिश्चित करेगा कि किसी भी कार्मिक के माध्यम से और किसी भी कारण से कोई सुरक्षा सम्बन्धी प्रकार की कोई जानकारी लीक न हो, जो निम्नलिखित तक सीमित नहीं हैं:

  1. व्यक्तिगत लाभ के लिए।

  2. राजनीतिक जुड़ाव के लिए।

  3. बातों में लापरवाही और दस्तावेजों को संभालने में।

  4. पत्राचार में।

  5. संचार में।

  6. वर्गीकृत दस्तावेजों का प्रसारण।

  7. वार्तालाप।

  8. यह सुनिश्चित करने के लिए की किसी प्रकार की कोई जानकारी लीक नहीं हो रही है, निम्नलिखित सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए : -

  • कंपनी में नए कर्मचारी को शामिल करने से पहले पुलिस द्वारा उन व्यक्तियों की विस्तृत जानकारी पता लगाएं जिनका कर्मचारी ने सन्दर्भ (reference) दिया है, और पिछले रोजगार की जाँच पड़ताल व सत्यापन के माध्यम से चरित्र सत्यापन किया जाना चाहिए।

  • व्यक्ति जो गोपनीय कार्यो में शामिल है और उसके खिलाफ कोई प्रतिकूल पुलिस रिपोर्ट प्राप्त होने पर उसका बार बार सत्यापन किया जायेगा और आमतौर पर हर तीन साल बाद उसे तुरंत स्थानांतरित किया जाएगा। SECRET के काम पर लगाए गए व्यक्तियों को पूर्व सकारात्मक जाँच होगी और उसके बाद हर दो साल में जाँच की जाएगी।

  • वर्गीकृत (विशेष) दस्तावेजों से निपटने के लिए केवल स्थाई (permanent) कर्मचारियों को अति गुप्त (TOP SECRET) और गुप्त (SECRET) अनुभागों में तैनात किया जाए।

  • विभिन्न परियोजनाओं पर लिए गए अनुबंध इंजीनियरों के संबंध में पुलिस सत्यापन भी किया जाएा।

  • कंपनी के कर्मचारी जिनमें विदेशी सहयोगी, डिजाइन व विकास और उत्पादन में शामिल हैं, उनको पूर्ण रूप से सुरक्षा जाँच से गुजरना होगा। सुरक्षा जाँच से क्लियर किये गए कर्मचारियों की सूची और रक्षा सामग्री के डिजाइन, विकास और जो उत्पादन में लाइसेंसधारी हों उनकी अलग से सूचि सुरक्षित की जाएगी ऐसे व्यक्तियों की आचार संहिता को समझाया जायेगा (परिभाषित करेगा)।

  • सभी अधिकारियों को कंपनी की गोपनीयता नीति में दिए गए प्रावधानों का पालन करना चाहिए और उस प्रभाव की घोषणा करनी चाहिए।

  • CSO की जानकारी में लाना प्रत्येक कर्मचारी का कर्तव्य है, यदि वर्गीकृत सूचना से निपटने वाले कर्मचारियोंके किसी भी संदिग्ध व्यवहार को नोटिस करते हैं जैसे कि कार्यालय में देर तक रहना, दस्तावेज़ की प्रतियां बनाना, लगातार अनाधिकृत अनुपस्थिति, नशे में रहना आदि।

  • लापरवाही या अहंकार के कारण बेसुध होना अक्सर सभी स्तरों पर होता है, और यहां तक कि वरिष्ठ अधिकारी भी इस व्यवहार को पसंद नहीं करते हैं । प्रत्येक श्रेष्ठ अधिकारी का यह कर्तव्य है कि यदि कोई भी उसके अधीनस्थों और उपयुक्त रूप से इस तरह की चूक के खिलाफ अधिकारी को चेतावनी देता है, तो इस तरह के किसी भी दोष का ध्यान रखना चाहिए।

रिपोर्टिंग प्रक्रिया

  1. किसी भी कर्मचारी (यों) के बारे में प्रतिकूल जानकारी की सूचना होने पर CSO जल्द से जल्द, निकटतम पुलिस स्टेशन को लिखित रूप में रिपोर्ट करेगा, जैसे जासूसी, तोड़फोड़, आतंकवाद, विध्वंसक गतिविधियों आदि।

  2. CSO वर्गीकृत सामग्री की अनाधिकृत रसीद की भी रिपोर्ट करेगा।

वर्गीकृत (Classified)सामग्री


निर्मित किए जा रहे उपकरण या सामग्री में पहचानी गई कोई महत्वपूर्ण दोष:

  1. वर्गीकृत सामग्री को सुरक्षित करने में असमर्थता।

  2. नुकसान या संदिग्ध समझौता की रिपोर्ट।

सुरक्षा प्रमुख (Head Security)

  1. प्रत्येक कंपनी या उसकी बहु-स्थान इकाइयाँ (multi location units) सुरक्षा पर पर्याप्त ज्ञान के साथ एक भारतीय नागरिक को सुरक्षा प्रमुख के रूप में नियुक्त करेंगी।

  2. सुरक्षा प्रमुख यूनिट की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होगा और सुरक्षा कर्मियों के प्रशिक्षण के लिए भी जिम्मेदार होगा। वह कंपनी के प्रबंध निदेशक / सीईओ के परामर्श से आंतरिक सुरक्षा नीतियों, आंतरिक लेखापरीक्षाऔर सुरक्षा प्रक्रियाओंकी रूपरेखा तैयार करेगा।

  3. सुरक्षा प्रमुख के दायित्व और कर्तव्य :-

  • व्यापक अभिगम नियंत्रण प्रणाली (access control system) का कार्यान्वयनऔर प्रवर्तन।

  • उसके अधीन काम करने वाले कर्मचारियोंके आंतरिक प्रशासन को देखें।

  • कर्मचारियों के बीच उचित अनुशासन बनाए रखें।

  • Floor, परिधि दीवार और ड्यूटी पर सभी गार्ड पदों पर गश्त करना।

  • दैनिक डायरी (लॉग बुक) को बनाए रखना और ड्यूटी अवधि के दौरान किसी भी घटना को शामिल करना।

  • संबंधित अधिकारियों को खुफिया जानकारी एकत्र करना और उनका प्रसार करना।

  • कानून लागू करने वाली एजेंसियों के साथ संपर्क।

  • Personnel सुरक्षा, कार्मिक सुरक्षा और संगठन के दस्तावेज़ सुरक्षा पहलुओं की देखभाल करना।

सुरक्षा भंग होने पर कार्रवाई

  1. एक तेज और विस्तृत जांच करना।

  2. यदि अपराधी का पता चलता है, तो उसे पुलिस को सौंप दें।

  3. यदि अपराधी का पता नहीं चलता है, तो स्थानीय पुलिस के पास एक प्राथमिकी (FIR) दर्ज करें।

  4. मूल कारण की जांच करें और पुनरावृत्तिको रोकें और उपचारात्मक उपायों का भी सुझाव दें।

परिसर की सुरक्षा और भौतिक (Personnel /Physical) सुरक्षा के उपाय

  1. सुरक्षा के लिए परिसर, परिधि की दीवार और न्यूनतम प्रवेश / निकास बिंदु के नक्शा (layout) आवश्यक हैं।

  2. सुरक्षा नियंत्रण कक्ष, स्वागत और सुरक्षा अधिकारी का कार्यालय कारखाने के मुख्य द्वार के पास स्थित होगा।

  3. संवेदनशील डेटा रूम / सर्वर रूम में उचित अभिगम नियंत्रण प्रणाली होनी चाहिए और इस क्षेत्र में प्रवेश प्रतिबंधित किया जाना चाहिए और इन-आउट लॉग बनाए रखा जाएा।

  4. सामग्री संचलन के लिए एक अलग गेट को चालू किया जाना है।

  5. सभी कर्मचारियों को आईडी कार्ड जारी किए जाने हैं।

सुरक्षा कर्मचारी (Security Guard)


कंपनी सशस्त्र सुरक्षा गार्डों को नियुक्त करती है। ये गार्ड अधिमानतः डिफेंस सिक्योरिटी कॉर्प्स (DSC) / सेंट्रल इंडस्ट्रियलसिक्योरिटी फोर्स (CISF) / डायरेक्टर जनरल रिसैटलमेंट (DGR) एम्पावेल्ड एजेंसियों वाले होने चाहिए, जिनके पास प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसीज रेगुलेशन एक्ट (PSARA) लाइसेंस होगा।

सुरक्षा गार्ड के बुनियादी कार्यों में निम्नलिखित शामिल हैं:

  1. पैदल और वाहन के प्रवेश द्वारों और संचलन पर नियंत्रण।

  2. इमारतों और परिधि का गश्त।

  3. सामग्री और कर्मियों का अनुरक्षण।

  4. केंद्रीय नियंत्रण सुविधा से परिसंपत्तियों की निगरानी और अग्नि सुरक्षा का निरीक्षण।

  5. आपातकालीन प्रतिक्रिया।

  6. परेशान लोगों से निपटने के लिए विशेष असाइनमेंट।

पहुँच नियंत्रण (Access Control)

  1. सुनिश्चित करें कि सभी कर्मचारी सुविधा के भीतर हर समय दिखाई देने वाले बैज पहने हुए हैं।

  2. सभी आगंतुकों को विशेष पास प्रदान करें।

  3. एक स्थापित प्राधिकरण परमिट प्रक्रिया के माध्यम से उनकी पहुँच को विनियमित करें।

  4. उचित पहचान के बिना सुविधा में किसी भी व्यक्ति को पहचानें और रिपोर्ट करें।

  5. कुछ लोगों को अस्थायी रूप से हिरासत में लिया जा सकता है।

  6. उन व्यक्तियों की रिपोर्ट करें जो मादक पेय या अन्य निषेधित को सुविधा में लाने का प्रयास करते हैं या जो शराब या नियंत्रित पदार्थों के प्रभाव में दिखाई देते हैं।

  7. उन व्यक्तियों को पहचानें और प्रश्न करें जो संपत्ति को हटाते हैं यह सुनिश्चित करने के लिए कि उनके पास संपत्ति हटाने का पास है या अन्यथा संपत्ति को हटाने के लिए अधिकृत हैं।

  8. सुविधा में प्रवेश करने और छोड़ने की सामग्री की निगरानी करें।

  9. सुविधा में प्रवेश करने और छोड़ने वाले वाहनों की निगरानी करें।

  10. उन वाहनों में वॉटरक्राफ्ट, एयरक्राफ्ट, और भूमि आधारित वाहन (जैसे ट्रेन, बस, भारी उपकरण, कार, मोटरबाइक और ट्रक) शामिल हो सकते हैं।

गश्त (Patrolling)


गश्त पर, अधिकारी आमतौर पर अन्य स्थितियों के बीच, निम्नलिखित किए जाने हैं:

  1. असुरक्षित दरवाजे, खिड़कियां, या अन्य आगमन पॉइंट।

  2. संदिग्ध व्यक्ति, वाहन, या परिस्थितियाँया असामान्य गतिविधि- शराब या अन्य पदार्थों के प्रभाव में कोई भी गतिविधि, लोगों के असामान्य समूह, अव्यवस्थित व्यक्ति या झगड़े।

  3. खतरनाक स्थिति, जैसे पानी या अन्य द्रव के रिसाव, आग के खतरे और गलत समय पर काम करने वाले उपकरण खराब होना।

  4. अग्निशमन यंत्रों की समस्या।

  5. कंपनी सुरक्षा या सुरक्षा नीतियों का उल्लंघन।

  6. अग्नि अलार्म।

  7. बम की धमकी या संदिग्ध पैकेज।

  8. एक इमारत के भीतर या बाहर चिकित्सा आपात स्थिति।

  9. मैकेनिकल और अन्य उपकरण विफलताओं।

  10. लिफ्ट के प्रवेश द्वार।

  11. बाढ़, बवंडर, बर्फीला तूफान, हवा, और गर्मी ।

  12. आतंकवादी कार्रवाई, अन्यआपराधिक क्रियाएं, जिसमें बंधक लेना, गोलियां चलाना, या बमबारी की इमारत का निर्माण आंशिक और पूर्ण दोनों तरह से इमारत खाली करना शामिल है।

DRASINT RISK ALLIANCE PRIVATE LIMITED कॉपीराइट के उल्लंघन, साहित्यिक चोरीया प्रकाशन के अन्य उल्लंघनों के मुद्दों को बहुत गंभीरता से लेती है।हम अपने अधिकारों की रक्षा करना चाहते हैं और हम हमेशा साहित्यिक चोरी के दावों की जांच करते हैं। प्रस्तुत पाठ की जाँच की जाती है।जहाँ पाठों में पाया जाता है कि बिना अनुमति के या अपर्याप्त स्वीकृति के साथ तृतीय-पक्ष कॉपीराइट सामग्री शामिल है, हम कार्रवाई करने का अधिकार सुरक्षित रखते है। प्रतियाँ बनाने का अधिकार डेटाबेस, या वितरकों को उपलब्ध है जो विभिन्न दर्शकों को पांडुलिपियों या पत्रिकाओं को प्रसारित करने में शामिल हो सकते हैं।


DRASINT RISK ALLIANCE PRIVATE LIMITED प्रकाशित सामग्री का एकमात्र मालिक है।

E Mail: forensic@drasintrisk.com Mobile Number +918290439442

© 2020 by DRASInt Risk Alliance Private Limited | Corporate Risk Management

  • LinkedIn
  • Twitter